कैसे करें बालों के लिए तेल का चयन :

333

आइए जाने बालों की विभिन्न समस्याओं में तेल का चयन किस प्रकार करें । बालों के झड़ना एवं असमय सफेदी की समस्या में काले तिल का तेल जो जडी-बूटियों से युक्त हो अत्यंत गुणकारी होता है । ऐसे तेल में प्रमुख जड़ी-बूटियाँ जो उपस्थित होनी चाहिए तो इस प्रकार हें- मृगराज, ऊंरिरिना, गुंजा, खस, द्राझी, मेंहदी, चंदन, दारूहल्दी, यष्टीमधु, जटामांसी |

काले तिल के तेल में कुछ मात्रा शुद्ध नारियल तेल भी मिला हो तो उत्तम होता है । यह बात अवश्य ध्यान रखें कि हेयर आँयल अच्छी फार्मेसी में बना हुआ होना चाहिए | घर में पकाए गए तेल के बारे में निश्चित रूप से यह पाना संभव नहीं होता कि यह बालों कं लिए फाएेदेमंद होगा ही । क्योंकि अच्छी फार्मेसी में तापमान नियंत्रण की व्यवस्था रहती है और एक उचित तापमान पर ही पकाए जान पर जड़ी-बूटियाँ की गुणवत्ता बनी रहती है । डेंड्रफ (रूसी) की समस्या होने पर उपरोक्त तेल में आधा भाग ऐसा तेल मिलाएँ जो नीम, करंज, बाकुची तेल मे निम्नलिखित जड़ी-बूटियॉ मिलाकर पकाए जाने पर बना हो नीम पत्र, रसांजन, आँवला, वसाका । आइए जानें इस तेल का प्रयोग बालों में किस प्रकार करना चाहिए । रात में सोने के पहले बालों की जड़ में तेल लगाएँ । हल्दी हाथों से मिलाएँ | जोर से मालिश न करें । बिना कंघा किए रातभर छोड़ दें । सुबह गर्म पानी में आँवला डालकर, निचोड़ कर सिर पर बाँध कर भाप लें । टॉवेल ठंडा होने पर हटा दें |

थोड़ा सा आयुर्वेदिक शैम्पू थोड़ी मात्रा में पानी में घोल लें । इससे बाल धो लें । इस प्रकार पानी में घोलकर शॅमपू का प्रयोग दो बार करें । उपरोक्त तिथि से साप्ताह में तीन बार (एक दिन छोड़कर) तेल का प्रयोग करें | बालों को धोने के बाद तेल ना लगाएँ | बालों को सॉफ एवं सूखा रहने दें | यदि आवश्यक हो तो हल्का सा तेल केवल उपर से लगा लें | बालों की जड़ों में ना लगाएँ |

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY