बादाम खाएँ सेहत बनाए :

444
बादाम खाएँ सेहत बनाए :

बादाम खाएँ सेहत बनाए

बादाम पश्चिम एशिया के काबुल (आफ्गानिस्तान) में सर्वाधिक पैदा होता है | भारत के शीतल प्रदेशों में विशेषतः पश्चिमी भारत वर्ष के पंजाब, काशमीर और दक्षिण के पश्चिम तट पर बादाम काफ़ी होता है | फिर भी विदेशी बादाम की अपेक्षा यहाँ का बादाम कम तैलिए है | इसके वृक्षों की उँचाई मुश्किल से दो मीटर तक होती है | बादाम दो किस्म के पाए जाते हैं, कड़वा बादाम तथा मीठा बादाम | कड़वा बादाम – ईरान, आफ्गानिस्तान, मरॉक्को, सिसली और फ्रांस आदि देशों में पाया जाता है | बादाम मनुष्यों के बहुत काम का मेवा है | इसका प्रयोग दृष्टि रोग , पुरानी खाँसी, आमाशेय रोग , आंत्र रोग , स्तन रोग , चर्म रोग , दिमागी शक्ति को बढ़ाने , आँखों के समस्त रोग, पुराने क़ब्ज़ , गले की खरखराहट पे जादू सा काम करता है |

बादाम का तेल दिमाग़ में बहुत तरावट पैदा करता है नींद लाता है, सिर का दर्द मिटाता है, कान मे आवाज़े आती हो तो इसकी बूंदे डालने से फ़ायदा होता है | बादाम का तेल निकालने के लिए इसके गिरी को सिल पर बारीक पीस लें | तत्पश्चयात इसमें थोड़ी चीनी मिलाकर गरम जल के छींटे दे देकर पीसते जाएँ, तेल अपने आप अलग हो जाएगा | यह हल्के पीले रंग का बगैर खुसबू वाला होता है |

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY