खुद संभालें सेहत की कमान

491

कहते हैं कि स्वास्थ्य से बड़ी संपदा और कोई दूसरी नहीं होती | यदि सेहत ठीक नहीं है, तो आप किसी भी बात का पूर्ण आनंद नही उठा सकते| किसी गंभीर रोग के होने पर जीवन बोझिल बन जाता है| इसलिए आपका स्वास्थ्य रहना ज़रूरी है, पर कोई भी चीज़ सहजता से हासिल नहीं होती| उसे पाने के लिए कुछ ना कुछ प्रयास करना पड़ता है| यही बात अच्छी सेहत बनाने के सन्दर्भ में भी लागू होती है|

कुछ सुझाव –

आहार – ‘जैसा अन्न वैसा तन’ हम जैसा आहार ग्रहण करते हैं, वैसा ही हमारा स्वास्थ्य बनता है| इसलिए हमे अपने आहार के सन्दर्भ मे सजगता बरतनी चाहिए| आहार का चयन दिनचर्या और मौसम के अनुसार किया जाना चाहिए| हमे अपने आहार मे प्रोटीन, विटामिन, कार्बोहाइड्रेट, खनिज व वसा सही अनुपात में रखना चाहिए|

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY